संगठन के नियम

  • 1-  संगठन जनता की समस्याओं को दूर कराने के लिए किसी से भी पैसा नहीं लेगा।

  • 2-  संगठन कभी भी अनैतिक कार्य (ट्रांसफर, ठेकेदारी, नौकरी दिलाने के नाम पे पैसा लेना आदि) नहीं करेगा।

  • 3- संघठन का कोई भी प्रभारी कभी भी किसी पार्टी से चुनाव नहीं लड़ेगा।

  • 4-  - संगठन प्रभारी बनने के लिए एक आवेदन फॉर्म मिलेगा जिसको भरके संगठन को देना होगा ।उसके बाद निवास सत्यापन
           के बाद ही वह प्रभारी नियुक्त होगा।

  • 5-  - संगठन को अगर कोई आवेदन फॉर्म में मांगे गए दस्तावेज गलत होते हैं तो वह व्यक्ति कभी भी संगठन का सदस्य / प्रभारी नहीं बन पायेगा।

  • 6-  संगठन प्रभारी बनने के लिए 18 से आजीवन की आयु तक होनी चाहये।

  • 7-  संगठन द्वारा नियुक्त प्रभारी की शिकायत अगर दो बार से ज्यादा पायी गयी तो वह प्रभारी हमेसा के लिए संगठन से हटा दिया जायेगा।

  •   8- संगठन का प्रभारी सभी धर्मों में आस्था रखने वाला व्यक्ति होना चाहये।

  • 9- संगठन के सभी प्रभारी संगठन के नियम से ही कार्य करेंगे । अनुशासनहीनता किसी प्रकार की हुई तो वह तत्काल प्रभाव से हटा दिया जायेगा।

  • 10- संगठन अध्यक्ष संस्था कार्यकारिणी की अनुशंसा के आधार पर मंडल प्रभारियों की न्युक्ति करेगा और मंडल प्रभारी की अनुशंसा पर संस्था कार्यकारिणी
           की सहमति से संगठन का अध्यक्ष अन्य पदाधिकारियों की न्युक्ति करेगा।

  • 11-  संगठन का अध्यक्ष संस्था कार्यकारिणी की अनुशंसा पर किसी भी प्रभारी की न्युक्ति अथवा निलंबन कर सकता है , परन्तु किसी भी परिस्थिति में संगठन
          अध्यक्ष का निर्ण यही अंतिम होगा।

  • 12-  प्रदेश अध्यक्ष ही किसी भी प्रभारी की नियुक्ति कर सकता है और किसी भी प्रभारी को हटा सकता है पर संगठन नियम के अनुसार ही।